सीमा विवाद के बीच पीएम मोदी और जिनपिंग फिर होंगे आमने-सामने

Home Category अंतरराष्ट्रीय सीमा विवाद के बीच पीएम मोदी और जिनपिंग फिर होंगे आमने-सामने

विदेश मंत्रालय ने सोमवार को जानकारी दी कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12वें ब्रिक्स (BRICS) शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। इस शिखर सम्मेलन का आयोजन वर्चुअल (आभासी) माध्यम से 17 नवंबर को किया जाएगा। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी इस आभासी बैठक का हिस्सा होंगे। ब्रिक्स सम्मेलन ऐसे समय में हो रहा है, जब इसके दो प्रमुख सदस्यों के बीच सीमा विवाद अपने चरम पर है। भारत और चीन के बीच मई से ही पूर्वी लद्दाख सीमा पर तनाव जारी है। तनाव का नतीजा यह रहा है कि दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प भी हो गई है। हालांकि, वर्तमान में दोनों ही सेनाएं पीछे हटने के प्रस्ताव पर काम कर रही हैं। हाल ही में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग का 10 नवंबर हो हुई शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक के दौरान आमना-सामना हुआ था। वहीं, ब्रिक्स सम्मलेन के बाद एक बार फिर दोनों ही नेताओं का आमना-सामना 21 और 22 नवंबर को जी-20 की बैठक में होना है। मंत्रालय ने बताया कि इस बार सम्मेलन की थीम 'वैश्विक स्थिरता, साझा सुरक्षा और अभिनव विकास' रहेगी। बता दें कि ब्रिक्स देशों के संगठन में पांच तेज गति से उभर रही अर्थव्यवस्थाओं वाले देश हैं। इनमें ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं। मंत्रालय ने इस संबंध में कहा कि 12वां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ की पृष्ठभूमि में और कोविड-19 वैश्विक महामारी के बीच आयोजित किया जा रहा है। इसमें सदस्य देशों के नेता वैश्विक परिदृश्य के प्रमुख मुद्दों और आपसी सहयोग पर चर्चा करेंगे।इसमें कोविड-19 महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए बहुपक्षीय प्रणाली के उपायों में सुधार भी शामिल हैं। इसके अलावा शिखर सम्मेलन में आतंकवाद के खिलाफ जंग में सहयोग, व्यापार, स्वास्थ्य, ऊर्जा और लोगों से लोगों का आदान-प्रदान पर भी चर्चा होगी। मंत्रालय ने कहा, ‘बैठक में अगले ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के लिए भारत को अध्यक्षता सौंपी जाएगी। भारत 2021 में होने वाले 13वें ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा। इससे पहले भारत ने 2012 और 2016 में ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता की है। ब्रिक्स देशों का यह सम्मेलन ऐसे समय हो रहा है जब इसके दो प्रमुख सदस्य देशों भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में सीमा पर छह महीने पहले हुई एक हिंसप झड़प के बाद गतिरोध बरकरार है। अब दोनों पक्ष ऊंचाई वाले इलाकों से सैनिकों को पीछे हटाने के प्रस्ताव पर काम कर रहे हैं।

 

[Social Media Share Text/Image]